खुशखबरी: जल्द 30 लाख युवाओं को मिलेंगी लॉजिस्टिक्स इंडस्ट्री में नौकरियां

आइये पहले ये जानते हैं की लॉजिस्टिक्स क्या है और उसका दैनिक जीवन में क्या उपयोग है।
इंसान के जीवन में उपयोग होने वाली सारी वस्तुएं जो कहीं न कहीं से से वो लेकर आता है
और उसका उपयोग करता है या किसी और जगह भेजता है अब उसको भेजने के लिए जो साधन इस्तेमाल होते है वो सब लॉजिस्टिक्स का ही परता है इसको हिंदी में संभार-तंत्र कहते हैं और इसी का एक और पार्ट है सामग्री प्रबंधन जो लॉजिस्टिक्स के अंतर्गत आता है।

लॉजिस्टिक्स: सूचना, वस्तुओं एवं अन्य संसाधनों व उर्जा को उनके बनाये गए स्थान से लेकर उनके उपयोग के स्थान तक के आवागमन व्यवस्था करने वाली प्रणाली को लॉजिस्टिक्स या संभार-तंत्र कहते हैं। लॉजिस्टिक्स में सूचना, इन्वेन्टरी, यातायात, गोदाम, वस्तुओं की हैडिलिंग व पैकेजिंग एवं उनकी सुरक्षा इत्यादि शामिल है। मॉडर्न युद्धकला का भी वह अंग लॉजिस्टिक्स कहलाता है जिसमें सेना के संचालन, निवास आदि और सैनिको को युद्ध स्थान तक उनके जरुरत की सामग्री पहुँचाने की व्यवस्था की जाती है।

लॉजिस्टिक्स इंडस्ट्री में आने वाले चार साल में 25-3० लाख नई नौकरियों के आने की संभावना है, टीमलीज की रिपोर्ट के अनुसार माल एवं सेवा कर के क्रियान्वयन और बुनियादी ढांचे में निवेश से इस क्षेत्र में काफी नौकरियां बढ़ेंगी भारतीय लॉजिस्टिक्स क्रांति इन 7 उप क्षेत्रों में जो की सड़क ढुलाई, जलमार्ग, विमान ढुलाई, रेल ढुलाई, भंडारण, पैकेजिंग और कुरियर सर्विस में होंगी। जिससे इसमें २५ से ३० लाख नई नौकरियां और रोजगर पैदा होंगे।
लॉजिस्टिक्स के क्षेत्र में रोजगार का आंकड़ा 2022 तक बढ़कर 1.39 करोड़ तक पहुंच जाने की उम्मीद है अभी यह आंकड़ा 1.09 करोड़ है, सड़क ढुलाई क्षेत्र में 18.9 लाख अतिरिक्त रोजगार के अवसर आएंगे, वहीं रेल ढुलाई, विमान ढुलाई, जलमार्ग क्षेत्र में काफी रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे।

देश को लॉजिस्टिक में नंबर 1 बनाने के लिए सरकार की ओर से पूरा प्रयास किया जा रहा है। लॉजिस्टिक इंडस्ट्री में देश के युवा आगे आएं जो भविष्य में इसका आधार बनेंगे।

Leave a Reply