1 जुलाई से बेकार हो जाएगा आधार कार्ड, मोदी सरकार कर रही है ये बड़ा बदलाव वर्चुअल आईडी का करना होगा इस्तेमाल

मोदी सरकार ने आधार वर्चुअल आईडी के इस्तेमाल पर क्यों जोर दे रही है इसका जबाब ये है की “आधार के दुरुपयोग की खबरों के आने के बाद” सरकार आधार की सेफ्टी को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है

UIDAI ने आधार कार्ड में कुछ आवश्यक बदलाव करने का फैसला किया है, सरकार ने निर्णय लिया है की आधार नंबर की जरुरत बहुत सारी सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए इस्तेमाल नहीं होगी, उसकी जगह वीआईडी यानि वर्चुअल आईडी की शुरुवात की जाएगी, आधार नंबर की जरुरत ही नहीं पड़ेगी यानि आपका आधार बेकार हो जायेग, हालांकि, बेकार होने का ये मतलब नहीं कि आधार वैलिड नहीं रहेगा, अब इसकी शुरुवात के लिए सिर्फ ५ दिन ही बचे हैं इसलिए आप कह सकते हैं की ५ दिन बाद आपका आधार यूज़लेस हो जायेगा

अभी आपके दिमाग में बहुत सारे सवाल आ रहे होंगे, हम बताते हैं क्या है ये सवाल और इन सवालों के जवाब !!

१. क्या होती है ये वीआईडी या वर्चुअल आईडी?
२. वीआईडी या वर्चुअल आईडी का फायदा क्या होगा?
३. आम जनता वीआईडी या वर्चुअल आईडी इस्तेमाल कैसे कर पाएगी?
४. कैसे ये वीआईडी या वर्चुअल आईडी जेनरेट होगी?
५. क्या है वीआईडी या वर्चुअल आईडी?

आधार वीआईडी एक तरह का अस्थायी नंबर है जो की 16 अंकों का होता है, इसमें कुछ डिटेल होंगी, UIDAI यूजर्स को वर्चुअल आईडी के लिए समय देगी जो हर आधार होल्डर्स पर अप्लाई होगा. अगर आपको कहीं आधार की डिटेल देनी है तो अब आप 12 अंकों के आधार नंबर की जगह 16 अंकों का विआईडी दिया जा सकेगा, वर्चुअल आईडी जनरेट करने की सुविधा 1 जून से अनिवार्य की जाएगी

जानिए कैसे जनरेट करें वर्चुअल आईडी

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) के होम पेज पर आधार सर्विसेज पर क्लिक करके VID जनरेटर पर जाएं, अपना आधार नंबर, सिक्योरिटी कोड एंटर करें। इसके बाद send OTP पर क्लिक करें। UIDAI के साथ रजिस्टर मोबाइल नंबर पर OTP भेजा जायेगा

OTP को डालें करें। इसके बाद आपके पास VID यानि की वर्चुअल आईडी जनरेट करने का विकल्प मिल जायेगा। अगर आपने पहले से आईडी जनरेट किया हुआ है तो उस आईडी का भी पता इसी तरह से लगाया जा सकता है। इसके बाद Submit करें। Submit करने पर आपको मोबाइल नंबर पर वर्चुअल आईडी भेजा जायेगा।

Aadhaar Virtual Id Generation Link

वर्चुअल आईडी से क्या होगा?

वर्चुअल आईडी आपको सत्यापन के समय आधार नंबर गुप्त रखने का विकल्प देगी, वर्चुअल आईडी से आपका नाम, पता और फोटोग्राफ जैसी चीजों का वेरिफिकेशन हो जायेगा और आपकी सेफ्टी में कोई दिक्कत नहीं आएगी।

1 जून से सभी कंपनियों के लिए आधार वर्चुअल आईडी स्वीकार करना अनिवार्य हो जाएगा।

One comment

Leave a Reply