फास्टैग क्या है और इसे कैसे रिचार्ज किया जाता है?

फास्टैग क्या है?

फास्टैग एक प्रकार का सिम या स्मार्ट कार्ड की तरह प्रीपेड और रिचार्जेबल टैग है, जिसका कि उपयोग टोल प्लाजा पर वाहनों को रोके बिना टोल संग्रह के लिए किया जाता है। इससे वाहनों की लंबी कतार से बचने में सहायता मिलती है। फास्टैग से टोल टैक्स की रकम अपने आप कट जाती है। आपको इसे सिम कि तरह समय-समय पर रिचार्ज करना होता है।

फास्टैग क्यों खरीदें या रिचार्ज करें?

भारत सरकार और NHAI (नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया) ने 15 जनवरी 2020 से सभी टोल भुगतानों के लिए पूरे देश में सभी प्रकार के वाहनों के लिए चाहे वो कमर्शियल हों या प्राइवेट, फास्टैग अनिवार्य कर दिया है।

रिचार्ज विधि नीचे दी गई है:

पहली विधि: बैंक द्वारा

 जब आप एक athourized बैंक से फास्टैग खरीदेंगे तो यह आपके automatic  खाते से लिंक हो जाएगा और सक्रिय हो जाएगा। सक्रियकरण प्रक्रिया के लिए बैंक को आवश्यक दस्तावेज और आरसी (पंजीकरण प्रमाणपत्र) जमा करके खाता धारक के KYC की आवश्यकता होती है।

दूसरी विधि: फास्टैग ऐप के माध्यम से

अगर आपने अपना Fastag किसी ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट से खरीदा है तो उसके लिए सेल्फ-एक्टिवेशन प्रोसेस काम करेगा। इसका सक्रियण (activation) आपके वाहन पंजीकरण संख्या, चेसिस नंबर और फोन नंबर आदि फास्टैग ऐप में दर्ज करके क्रियान्वित होगा और यह ऑटो एक्टिव होगा।


फास्टैग की अन्य रिचार्ज विधि:

उपयोगकर्ता फास्टैग को रिचार्ज करने के लिए NHAI प्रीपेड वॉलेट का उपयोग कर सकते हैं, उपयोगकर्ताओं को भुगतान के लिए फास्टैग के साथ जुड़ने के लिए इसे रिचार्ज करने की आवश्यकता है। किसी भी बैंक खाते से जुड़ा फास्टैग खाता शेष राशि में कटौती करके स्वचालित रूप से रिचार्ज करेगा। आपके पास UPI, PAYTM और GooglePay का उपयोग करके फास्टैग को रिचार्ज करने का एक और विकल्प है।

Leave a Reply